एनडीबी के साथ ऋण समझौता

दिल्ली- गाज़ियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर के वित्तपोषण के लिए भारत सरकार और न्यू डेवलपमेंट बैंक (एनडीबी) के बीच आज 500 मिलियन अमरीकी डॉलर (लगभग 3,700 करोड़ रुपये) के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किया गया। परियोजना के समझौते पर आवास और शहरी विकास मंत्रालय, एनसीआरटीसी और एनडीबी द्वारा हस्ताक्षर किए गए। इस ऋण का उपयोग रौलिंग स्टॉक, सिग्नलिंग सिस्टम, ऑपरेशनल स्ट्रक्चर्स, ऑपरेशनल स्टाफ के लिए निवास स्थान, ट्रेन नियंत्रण और दूरसंचार प्रणाली सहित अन्य विविध कार्यों के लिया किया जाएगा। इस बारे में बात करते हुये एनसीआरटीसी के प्रबंध निदेशक, श्री विनय कुमार सिंह ने कहा, “एनसीआरटीसी माननीय प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के विज़न के प्रति कटिबद्ध है। यह अपने आप में एक विशेष बहुपक्षीय ऋण समझौता है जो खरीद में मेक इन इंडिया प्रावधान की अनुमति देता है। एनसीआरटीसी न्यू इंडिया के नए इन्फ्रास्ट्रक्चर में स्वदेशी क्षमता को बढ़ाने के लिए लगातार प्रयत्नशील है और एनडीबी के साथ यह ऋण समझौता इस दिशा में एक कारगर कदम साबित होगा।“