एनसीआर में आरआरटीएस कॉरिडोर के माध्यम से लौजिस्टिक सेवाओं का प्रावधान

एनसीआरटीसी द्वारा 17 सितंबर 2019 को ‘एनसीआर में आरआरटीएस कॉरिडोर के माध्यम से लौजिस्टिक सेवाओं के प्रावधान’ पर विचार-विमर्श करने के लिए विभिन्न लौजिस्टिक संगठनों के साथ एक परामर्श बैठक आयोजित की गई। एनसीआर में लगातार बढ़ते प्रदूषण और भीड़भाड़ की स्थिति को रोकने की दिशा में यह एक प्रभावी कदम होगा।

उद्योग प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए, एनसीआरटीसी के प्रबंध निदेशक श्री विनय कुमार सिंह ने कहा, “भारत आज $5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है और इसे संभव बनाने के लिए एनसीआर की अर्थव्यवस्था का आने वाले सालो में $1 ट्रिलियन तक विकसित होना होगा| मूलभूत रूप से यात्रियों के आवागमन के लिए बन रहे आरआरटीएस कॉरिडोर में ऑफ़-पीक घंटो में लॉजिस्टिक परिवहन की सुविधा देने पर विचार किया जा रहा है| ग्रीन कॉरिडोर के रूप में इसके कई लाभों के अलावा यह क्षेत्र में आर्थिक विकास के लिए उत्प्रेरक का काम करेगा।”