गति से प्रगति

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम (NCRTC) भारत सरकार और दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान तथा उत्तर प्रदेश राज्यों की संयुक्त क्षेत्र की कंपनी है। इसका काम क्षेत्रीय त्वरित परिवहन पद्धति (RRTS) को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में कार्यान्वित करना है ताकि इनके बीच बेहतर संपर्क और पहुँच के माध्यम से संतुलित और टिकाऊ विकास संभव हो सके।

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र पर इसका प्रभाव

सतत् विकास

तीव्रगामी पारगमन प्रणाली से दिल्ली समेत समस्त राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सतत् विकास का लक्ष्य हासिल करने में सहायता मिलेगी। इससे उन प्रक्रियाओं को गति मिलेगी जिनसे भावी पीढ़ियाँ सुरक्षित पर्यावरण का लाभ ले सकेंगी और सतत् आर्थिक तथा सामाजिक विकास भी संभव होगा।

प्रदूषण कम, सड़कों पर भीड़ भी कम

पर्यावरण की दृष्टि से सुरक्षित और कम प्रदूषणकारी क्षेत्रीय त्वरित परिवहन प्रणाली (RRTS) का लाभ यह होगा कि RRTS के माध्यम से तीव्र गति से (औसतन 100 किलोमीटर प्रति घंटा) अधिक संख्या में अधिकाधिक लोगों को परिवहन सुविधाएँ मिलेंगी। मात्र तीन मीटर की जगह घिरने से सड़कों पर भीड़भाड़ भी घटेगी। कुल मिलाकर इससे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में परिवहन के कारण होनेवाले कुल वायु प्रदूषण में कमी आएगी।

संतुलित आर्थिक विकास

तेज गति और निर्बाध परिवहन सुविधा होने से संतुलित आर्थिक विकास संभव होगा, जिसका लाभ समाज के सभी वर्गों को मिलेगा, सारी आर्थिक गतिविधियाँ एक स्थान पर केंद्रित न होने से विकास के अनेकों रास्ते खुलेंगे।

विश्व पर्यावरण दिवस
एनसीआरटीसी में घटनापूर्ण वर्ष
एनसीआरटीसी कॉर्पोरेट फिल्म
आरआरटीएस परियोजना के कार्यान्वयन की स्थिति
सुरक्षा एक प्राथमिकता

आरआरटीएस परियोजना पर प्रबंध निदेशक श्री विनय कुमार सिंह

इकोनॉमिक टाइम्स
Pic-for-website

श्री सिंह परिवर्तनकारी आरआरटीएस परियोजना से गैर-किराया राजस्व उत्पन्न करने के लिए विभिन्न स्टेशनों के लिए एनसीआरटीसी की अलग-अलग विकास योजनाओं के बारे में बात करते हैं।

Link

Date : 05.08.2022

बिज़नस वर्ल्ड
Picture-Copy

श्री सिंह ने अपने विचार साझा किए कि व्यवसाय करने में आसानी के लिए लोगों के लिए जीवन की सुगमता कितनी महत्वपूर्ण है। यह ठीक वही है जो आरआरटीएस प्रदान करेगा और भारतीय अर्थव्यवस्था की क्षमता को अनलॉक करेगा।

लिंक

Date : 18.06.2022

मनी कंट्रोल
DSC_7495

श्री सिंह देश के पहले आरआरटीएस को अत्याधुनिक तकनीक के साथ लागू करने और कैसे एनसीआरटीसी आरआरटीएस की हर उप-प्रणाली में नई तकनीकों को पेश कर रहे हैं, के बारे में बात करते हैं।

लिंक

Date : 09.06.2022

एनसीआरटीसी समाचार

मीडिया में एनसीआरटीसी