गति से प्रगति

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम (NCRTC) भारत सरकार और दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान तथा उत्तर प्रदेश राज्यों की संयुक्त क्षेत्र की कंपनी है। इसका काम क्षेत्रीय त्वरित परिवहन पद्धति (RRTS) को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में कार्यान्वित करना है ताकि इनके बीच बेहतर संपर्क और पहुँच के माध्यम से संतुलित और टिकाऊ विकास संभव हो सके।

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र पर इसका प्रभाव

सतत् विकास

तीव्रगामी पारगमन प्रणाली से दिल्ली समेत समस्त राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सतत् विकास का लक्ष्य हासिल करने में सहायता मिलेगी। इससे उन प्रक्रियाओं को गति मिलेगी जिनसे भावी पीढ़ियाँ सुरक्षित पर्यावरण का लाभ ले सकेंगी और सतत् आर्थिक तथा सामाजिक विकास भी संभव होगा।

संतुलित आर्थिक विकास

तेज गति और निर्बाध परिवहन सुविधा होने से संतुलित आर्थिक विकास संभव होगा, जिसका लाभ समाज के सभी वर्गों को मिलेगा, सारी आर्थिक गतिविधियाँ एक स्थान पर केंद्रित न होने से विकास के अनेकों रास्ते खुलेंगे।

प्रदूषण कम, सड़कों पर भीड़ भी कम

पर्यावरण की दृष्टि से सुरक्षित और कम प्रदूषणकारी क्षेत्रीय त्वरित परिवहन प्रणाली (RRTS) का लाभ यह होगा कि RRTS के माध्यम से तीव्र गति से (औसतन 100 किलोमीटर प्रति घंटा) अधिक संख्या में अधिकाधिक लोगों को परिवहन सुविधाएँ मिलेंगी। मात्र तीन मीटर की जगह घिरने से सड़कों पर भीड़भाड़ भी घटेगी। कुल मिलाकर इससे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में परिवहन के कारण होनेवाले कुल वायु प्रदूषण में कमी आएगी।

(New) First Look of RRTS Train

Managing Director on RRTS project

Intelligent Transport

WhatsApp-Image-2019-12-13-at-4.40.09-PM

“The National Capital Region Planning Board, a statutory body under the Government of India, in its Functional Plan on Transport for NCR-2032. Out of these, three corridors were strategically prioritised for implementation in Phase 1. The responsibility of designing, developing, RRTS has been assigned to the National Capital Region Transport Corporation (NCRTC), a joint venture with the Indian government and the state governments of Delhi, Haryana, Rajasthan and Uttar Pradesh.”

पूरा लेख पढ़ें

International Railway Journal

IRJ_April_2020_-26-27-1

The Hindu

IRJ_April_2020_-26-27-1

“RRTS is going to the backbone of passenger transport in NCR. Despite the pandemic and lockdown challenges, NCRTC has been able to commission projects on time.” – Shri V.K.Singh.

Read full article

एनसीआरटीसी समाचार

27

अक्टूबर
In a significant development on the Delhi-Gurugram-SNB RRTS corridor, NCRTC has invited bids for engaging General Consultant. The scope of work for General Consultant primarily ...

26

अक्टूबर
NCRTC today signed an agreement with Bharat Electronics Limited for transfer of land on temporary basis for the construction of Delhi-Ghaziabad-Meerut RRTS Corridor. This agreement will ...
NCRTC-Web-Banner