मेन्यू

एनसीआर पर आरआरटीएस परियोजना का प्रभाव
सतत विकास
फास्ट ट्रांजिट सिस्टम से ऐसी प्रक्रियाएं सक्रिय होंगी जो पर्यावरण संरक्षण के साथ एनसीआर में जीवंत आर्थिक और सामाजिक विकास को सक्षम करेगा
बहुकेन्द्रिय विकास
निर्बाध उच्च गति कनेक्टिविटी के परिणामस्वरूप पूरे क्षेत्र में संतुलित आर्थिक विकास होगा, विकास के कई नए केंद्र विकसित होंगे जिससे समाज के सभी वर्गों को आर्थिक लाभ मिलेगा।
कम उत्सर्जन और निर्बाध यातायात
आरआरटीएस न्यूनतम भूमि पर अधिग्रहण करते हुए अनेक व्यक्तियों को उच्च गति से ले जाएगा, जिससे सड़कों पर भीड़ कम होगी।कुल मिलाकर, इससे वाहनों के कारण हो रहे कार्बन उत्सर्जन में महत्वपूर्ण कमी आएगी।
नौकरियों और सुविधाओं तक बेहतर पहुंच
आरआरटीएस एनसीआर से दूर रह रहे लोगों के लिए नए बाजार और अवसर उत्पन्न करेगा जो आज असंभव दिखाई देते हैं।
व्यवसाय को सरल एवं जीवन को बेहतर करना
कम यात्रा समय के कारण क्षेत्र की समग्र उत्पादकता में वृद्धि होगी, जिससे क्षेत्र की समग्र आर्थिक गतिविधियों में सुधार होगा।
राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम (एनसीआरटीसी) –भारत सरकार तथा दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान तथा उत्तर प्रदेश राज्यों की संयुक्त क्षेत्र की कंपनी है। इसका काम रीजनल रैपिड ट्रांज़िट सिस्टम (आरआरटीएस) का राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में कार्यान्वयन है ताकि इन क्षेत्रों के बीच बेहतर संपर्क और पहुँच के माध्यम से संतुलित और टिकाऊ शहरी विकास संभव हो सके।

हमारा लक्ष्य

जीवन के गुणवत्त की उन्नति हेतु साम्यिक, तेज, विश्वस्नियनी, सुरक्षित, आरामदायक, दक्ष ऐव गतिशिलता प्रदान कर एनसीआर के आर्थिक विकास को गति देना।

एमडी की कलम से

एनसीआरटीसी की टीम एनसीआर में रहने वाले नागरिकों को रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम जैसी विश्व की सबसे हरित गतिशीलता प्रोजेक्ट उपलब्ध कराने के लिए दिन-रात काम कर रही है। इससे क्षेत्र में प्रदूषण और सड़क यातायात में काफी कमी आएगी। आरआरटीएस जैसी परिवर्तनकारी परियोजनाएं एनसीआर के पर्यावरणीय रूप से सतत विकास की दिशा में सरकारों के दीर्घकालिक रणनीतिक हस्तक्षेप का हिस्सा हैं

आरआरटीएस परियोजना

आरआरटीएस एनसीआर में क्षेत्रीय बुनियादी जरूरतों को जोड़ने वाली एक नई, समर्पित, उच्च गति, उच्च क्षमता, आरामदायक कम्यूटर सेवा है। यह पारंपरिक रेलवे से अलग है क्योंकि यह एक समर्पित मार्ग के जरिये उच्च गति पर विश्वसनीय, उच्च आवृत्ति के साथ क्षेत्रीय यात्रा प्रदान करेगा। आरआरटीएस मेट्रो से भी अलग है क्योंकि यह कम स्टॉप और उच्च गति के साथ अपेक्षाकृत लंबी दूरी की यात्रा को सुगम बनाती है ।

कम्यूटर केंद्रितता

वीडियो चलाएं

विश्व स्तरीय कम्यूटर ट्रांजिट सेवा

आरआरटीएस नेटवर्क विश्व स्तरीय कम्यूटर ट्रांजिट सेवाएं प्रदान करेगा जो सुरक्षित होगा और उच्च गति (160 किमी) और उच्च आवृत्ति (5 से 10 मिनट) संचालन के साथ क्षेत्र में कम्यूटर यात्रा के समय को कम करेगा। नॉन-स्टॉप यात्रा के लिए, चुनी गई तकनीक 45 – 50 मिनट से कम समय में 100 किलोमीटर की दूरी तय करेगा । यह परियोजना नेटवर्क पर सभी श्रेणियों के यात्रियों की जरूरतों को पूरा करते हुए गुणवत्तापूर्ण अंतिम मील कनेक्टिविटी की सुविधा भी सुनिश्चित करेगी। नेटवर्क की योजना रेलवे स्टेशनों, बस डिपो, हवाई अड्डे और मेट्रो स्टेशनों के बीच निर्बाध मल्टी-मोडल-एकीकरण सुनिश्चित करने के लिए बनाई जाएगी ।
यात्रा ख़र्च और समय
में बचत की संभावना
निर्बाध
मल्टी मोडल एकीकरण
सार्वभौमिक
पहुंच
यात्रा ख़र्च और समय में बचत की संभावना
निर्बाध मल्टी मोडल एकीकरण
सार्वभौमिक पहुंच

कार्यान्वयन की स्थिति

दिन

प्राथमिक खंड साहिबाबाद से दुहाई
अपेक्षित प्रारंभ तिथि : मार्च 2023

प्रौद्योगिकी

परियोजना कार्यान्वयन में

स्पीड

परियोजना निगरानी

स्पीड वास्तविक समय में परियोजना के पूर्व-निर्माण और निर्माण चरणों की रिपोर्टिंग गतिविधियों को कैप्चर करने के लिए एक परियोजना प्रबंधन और निगरानी उपकरण है।
यहां क्लिक करें

बीआईएम

कई विषयों का संयोजन

कई विषयों का संयोजन - बीआईएम एक अत्याधुनिक 3डी मॉडल आधारित प्रक्रिया है जो इमारतों और बुनियादी ढांचे को अधिक प्रभावी ढंग से योजना, डिजाइन, निर्माण और प्रबंधन के लिए अंतर्दृष्टि और टूल प्रदान करती है।
यहां क्लिक करें

सीडीई

सामान्य डाटा परिवेश

सीडीई एक उपयोगी अनुकूल समाधान है जो मोबाइल द्वारा भी सभी परियोजना से संबंधित दस्तावेजों, चित्रों और मॉडलों को ऑनलाइन देखने, साझा करने और टिप्पणी करने की अनुमति देता है।
यहां क्लिक करें

CORS तकनीक

निरंतर संचालन रिफरेन्स स्टेशन

CORS तकनीक मापे गए स्थानों के लिए वास्तविक समय पर सटीक निर्देशांक प्रदान करती है और सटीक सिविल संरचना संरेखण के लिए 5-10 मिमी सटीकता सुनिश्चित करने में सक्षम है।
यहां क्लिक करें

आपरेशन में

ईटीसीएस सिग्नलिंग

यूरोपीय ट्रेन नियंत्रण प्रणाली स्तर 2

लॉन्ग टर्म इवोल्यूशन (LTE) का उपयोग करते हुए ट्रेन और ट्रैक साइड के बीच निरंतर संचार के साथ ट्रेन की आवाजाही का निरंतर पर्यवेक्षण करता है।
यहां क्लिक करें

आईडीआरईएएमएस

आईडीआरईएएमएस

भारत में रेल परिसंपत्तियों के प्रबंधन के तरीके में डिजिटल बदलाव लाएगा।
यहां क्लिक करें

एएफस

निर्बाध गतिशीलता

एनसीआरटीसी दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर के लिए स्वचालित किराया संग्रह (एएफसी) प्रणाली अपना रहा है।
यहां क्लिक करें

सोशल मीडिया में एनसीआरटीसी

यात्रियों की सुरक्षा

प्रत्येक आरआरटीएस स्टेशन पर पीएसडी स्थापित किए जाएंगे जो यात्रियों को बेहतर सुरक्षा सुनिश्चित करने और ऊर्जा की बचत करने में महत्वपूर्ण होंगे।
यहां क्लिक करें

सोशल मीडिया में एनसीआरटीसी

वीडियो चलाएं

अधिक अपडेट के लिए फॉलो करें :-

TRAIN TOUR

STATION TOUR

A typical RRTS station tour